Rajasthan Palanhar Yojana 2023 : मात्र एक छोटा सा काम करने पर छोटे बच्चे को हर महीने ₹2500 मिलेंगे

 Join WhatsApp Channel
 Join Telegram Channel

Rajasthan Palanhar Yojana 2023 : मात्र एक छोटा सा काम करना होगा उसके बाद में हर महीने आपके बैंक खाते में ₹2500 आएंगे राजस्थान सरकार अलग-अलग योजनाएं चलाती रहती है अपने नागरिकों को फायदा पहुंचाने के लिए वर्तमान समय में राजस्थान सरकार ने एक शानदार योजना का शुभारंभ किया ही इस योजना का नाम पालनहार योजना है हालांकि राजस्थान सरकार के द्वारा यह योजना काफी दिनों पहले ही चलाई जा रही है लेकिन जैसे जैसे लोगों को इसके बारे में पता चल रहा है तो लोग इस योजना के दीवाने हुए जा रहे हैं और इस योजना का लाभ उठाने में लगे हुए हैं । तो आइए फिर ज्यादा देरी ना करते हुए समझते हैं कि आखिरकार पालनहार योजना क्या है इस योजना का लाभ उठाने के लिए आवेदन करता को कौन से दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी और पालनहार योजना के अंतर्गत कौन व्यक्ति आवेदन कर सकते हैं।

राजस्थान पालनहार योजना क्या है

जब किसी बच्चे के परिवार में उसके माता या पिता दोनों में से किसी एक की मृत्यु हो जाती है या उनके माता-पिता उन्हें छोड़ देते हैं या उनकी मां उन्हें छोड़कर दूसरी शादी कर लेती है तो उस बच्चे के भविष्य पर बहुत बड़ा संकट खड़ा हो जाता है इस बात को समझते हुए ही राजस्थान सरकार ने बहुत शानदार योजना का शुभारंभ किया है राजस्थान सरकार इस तरह के बच्चों को हर महीने ₹2500 की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी जिसकी वजह से बच्चे का भविष्य सुरक्षित रहेगा और बच्चे को ज्यादा समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा अलग-अलग उम्र में राजस्थान सरकार अलग-अलग आर्थिक सहायता देने वाली है । इस योजना का शुभारंभ सरकार ने 8 फरवरी 2005 को ही कर दिया था खास तौर पर इस योजना का उद्देश्य अनाथ बच्चों को आर्थिक सहायता प्रदान करना है ।

पालनहार योजना की विशेषताएं एवं लाभ‌

  • राजस्थान पालनहार योजना की वजह से अनाथ बच्चों का भविष्य उज्जवल होगा ।
  • राजस्थान पालनहार योजना की वजह से अनाथ बच्चों को हर महीने आर्थिक सहायता दी जाएगी ।
  • राजस्थान पालनहार योजना की वजह से छोटे बच्चों को किसी भी तरह की समस्या का सामना नहीं करना होगा जिसकी वजह से पूरे राजस्थान का विकास होगा
  • राजस्थान पालनहार योजना की वजह से छोटे बच्चों की पढ़ाई लिखाई में किसी भी तरह की समस्या नहीं आएगी जिसकी वजह से उन्हें बाल मजदूरी नहीं करनी होगी ।

पालनहार योजना मैं अब पहले से ज्यादा मिलेंगे रुपए

  • राजस्थान पालनहार योजना में पहले 6 वर्ष तक के बच्चों को ₹500 प्रति माह दिए जाते थे लेकिन अब इस योजना में बदलाव के कारण बच्चों को ₹750 प्रदान किए जाएंगे हर महीने इसके लिए बच्चों को आंगनवाड़ी जाना होगा ।
  • 6 वर्ष से लेकर 18 वर्ष के बीच के बच्चों को पहले हर महीने ₹1000 दिए जाते थे इस राशि को अब बढ़ा दिया गया है बच्चों को 1500 की आर्थिक सहायता दी जाएगी.
  • इसके अलावा बच्चों को वस्त्र जूते कपड़ों के लिए 1 वर्ष में ₹2000 की आर्थिक सहायता प्रदान करी जाएगी ।

पालनहार योजना के लिए जरूरी योग्यता

  • इस योजना का लाभ राजस्थान के उन्हीं परिवारों को दिया जाएगा जिनकी वार्षिक आय ₹120000 से ज्यादा नहीं है ।
  • इस योजना का लाभ केवल उन्हीं बच्चों को दिया जाएगा जिनकी आयु 18 वर्ष से कम है ।
  • पालनहार योजना के लिए केवल वही परिवार आवेदन कर सकते हैं जिन्हें करीब 3 वर्ष से ज्यादा का समय हो गया है राजस्थान में अपना जीवन व्यतीत करते हुए ।

पालनहार योजना में आवेदन करने के लिए जरूरी दस्तावेज

  • यदि बालक के माता पिता की मृत्यु हो चुकी है तो फिर माता पिता के मृत्यु प्रमाण पत्र की आवश्यकता पड़ेगी।
  • यदि किसी बालक के माता-पिता में से किसी एक को न्यायिक दंड आदेश है तो दंड आदेश  की एक जेरोक्स की आवश्यकता पड़ेगी ।
  • निराश्रित पेंशन प्राप्त करने वाली महिलाओं के बच्चों को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा इसके लिए उन्हें अपने पेंशन की एक फोटो कॉपी लगानी होगी।
  • यदि कोई महिला विधवा हो जाती है और उसके पहले पति से बच्चे हैं और वह दूसरा विवाह कर लेती है तो दूसरे विवाह का प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी।
  • बहुत भयंकर बीमारी जैसे कि एचआईवी यहां पर एड्स से पीड़ित बच्चों को भी इस योजना का लाभ दिया जाएगा इसके लिए उन्हें Art सेंटर द्वारा जारी किए गए प्रमाण पत्र की आवश्यकता होगी
  • यदि कोई महिला अपने पहले पति से पैदा हुए बच्चों को छोड़कर दूसरे पति से विवाह कर लेती है यानी कि आम भाषा में कहें तो नाते चली जाती है तो फिर उस महिला को 1 वर्ष का प्रमाण पत्र पेश करना होगा फिर उसकी सहायता से बच्चों को पालनहार योजना का लाभ मिलेगा।
  • यदि किसी बच्चे के माता-पिता अपंग हैं तो उन्हें इसका प्रमाण पत्र पेश करना होगा उसके बाद में फिर उन्हें भी इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • यदि किसी कारणवश माता-पिता के बीच में तलाक हो जाता है तो उनके बच्चों को इस पालनहार योजना के तहत लाभ दिया जाएगा ।

पालनहार योजना के लिए जरूरी दस्तावेज

  • पालनहार योजना का लाभ उठाने के लिए आपके पास में सबसे पहले भामाशाह नंबर होना चाहिए या फिर आपके पास में जन आधार कार्ड होना चाहिए।
  • जिस बच्चे के लिए इस योजना के लिए आवेदन करा जाएगा उस बच्चे का मूल निवासी प्रमाण पत्र और साथ ही राशन कार्ड में नाम होना चाहिए।
  • बच्चे के परिवार का आय प्रमाण पत्र बच्चे के पारिवारिक आय ₹120000 से ज्यादा की नहीं होनी चाहिए।
  • यदि किसी भी तरह की बच्चे के माता-पिता को पेंशन मिलती है तो पेंशन से संबंधित दस्तावेज ।
  • आवेदन करने वाले बच्चे का आधार कार्ड
  • यदि कोई बच्चा अनाथ है तो फिर उसके लिए पालन-पोषण का प्रमाण पत्र पेश करना होगा।
  • इसी के साथ में आंगनवाड़ी केंद्र पर पंजीकरण होना चाहिए इसके अलावा आवेदन करने वाला बालक वर्तमान समय में किसी विद्यालय में अध्ययन करता हुआ होना चाहिए।

राजस्थान पालनहार योजना में आवेदन कैसे करें

यदि आप राजस्थान पालनहार योजना का लाभ लेना चाहते हो तो अब आपको चिंतित नहीं होना चाहिए क्योंकि बस आपको मात्र एक छोटा सा काम करना होगा और आपको राजस्थान पालनहार योजना का लाभ मिलने लग जाएगा यदि आपको इंटरनेट की दुनिया की जानकारी है तो आप ऑफिशल वेबसाइट पर जाकर इसके लिए आवेदन कर सकते हो इसी के अलावा यदि आपको इंटरनेट के बारे में जानकारी नहीं है तो आप अपने आसपास मौजूद किसी कंप्यूटर वाले के पास में जाकर भी इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हो ।

WhatsApp Channel Join Now

Telegram channel Join Now

Leave a Comment

मोदी सरकार ने किया बड़ा ऐलान वापस से मिलना शुरू होगी किसानों को ₹1 लाख की आर्थिक सहायता